जानिए, टीवी के सितारों ने कैसे मनाया रक्षाबंधन ?

हम और आप सभी ने रक्षाबंधन को खूब उत्साह से मनाया, लेकिन हमेशा यह बेताबी बनी रहती है कि हमारे फेवरेट स्टार चाहें टीवी से जुड़े हों या फिल्मों से आखिर उन्होनें यह फेस्टिवल कैसे मनाया? तो चलिए, हम आपको बताते हैं कि आखिर आपके फेवरेट टीवी स्टार्स के लिए कैसे राखी का त्यौहार यादगार बन गया.


सौरभ पांडे – नेहा पांडे

saurabh

सौरभ के मुताबिक मेरी बहन नेहा पांडे सबसे छोटी है. हम तीनों भाई-बहनों में सबसे ज्यादा प्यारी भी है. वह बहुत ही क्रिएटिव है. हम अपनी बहन को बहुत प्यार करते हैं और हमेशा उसके साथ हैं. मेरी बहन की खास बात यह है कि वह हमेशा खुद के साथ होती है. मेरे लिए सबसे यादगार राखी वो थी, जब उसने हमें पहली बार अपने हाथ से राखी बांधी थी, जब वो तकरीबन चार साल की थी. हम दोनों ही भाईयों के लिए नेहा को बहन के रूप में पाना ही सबसे बड़ा गिफ्ट है.

वाहबिज दोराबजी -डेनियल दोराबजी

vhabij

मेरे लिए सबसे यादगार राखी पिछली बार की राखी थी, जब मेरा भाई मुझे बाहर शॉपिंग और लंच के लिए लेकर गया और हमने पूरा दिन साथ बिताया. मैं उसे भाई के रूप में पाकर बहुत खुश हूं. एक भाई या बहन होना बहुत जरूरी है और जिसका नहीं होता वह हमेशा ही अकेला महसूस करता है. एक अच्छे साथ को मिस करता है.

 दिव्यांका त्रिपाठी-ऐश्वर्य त्रिपाठी

divyanka

मेरा भाई बहुत ही दयालु लड़का है और वह ऐसे पला बढ़ा है, जैसे उसकी तीन मां हों. मेरी मां, मेरी बहन और मैं, तो इस तरह उसकी ज्यादा देखभाल और अच्छा पालन-पोषण हुआ. सबसे यादगार रक्षाबंधन मेरे लिए तब था, जब मैं भोपाल गई थी और अपने परिवार को मिस कर रही थी, मैनें अपने चचेरे भाइयों को एक पार्टी दी थी, जिसमें वे सब एक साथ आए और वो पार्टी एक राखी उत्सव बन गई थी. मेरे भाई द्वारा मुझे दिया गया सबसे अच्छा गिफ्ट था कि उसने हाल ही में एक एयरलाइन्स को ज्वाइन किया है और अपनी पहली सैलरी से उसने मुझे गिफ्ट कुरियर किया. मेरे लिए यह बहुत स्पेशल था, क्योंकि अपने बेबी ब्रॉदर को बड़ा होते देखने की एक अलग खुशी होती है.

शरद मल्होत्रा -रीमा पावा

sharad

जब मुझे मेरी पहली सैलरी मिली  थी, तो मैनें अपनी बहन को एक स्मार्टफोन गिफ्ट किया था और वह इसे लेकर बहुत इमोशनल हो गई थी. उसने पहला कॉल उस फोन से मुझे किया, यह मेरे दिल को छू गया था और मैं बहुत खुश था. उसके जैसी बहन पाकर बहुत ही खुशी होती है.

ऐश्वर्या सखूजा- डा0 श्याम सखूजा

ashwarya

मेरे भाई की सबसे खास बात है उसकी निस्वार्थ प्रकृति. मेरी सबसे यादगार राखी पिछली राखी थी, जब मैं उससे मिलने दुबई गई थी मैनें उसे सरप्राइज दिया था और वह मुझे देखकर बहुत खुश हुआ था. मेरा भाई मेरा हीरो है. मुझसे छ साल छोटा है लेकिन उसने मुझसे कभी झगड़ा नहीं किया.

गुंजन उतरेजा- कावेरी और गायत्री

gunjan

लाइफ की कुकीज में बहने चॉकलेट और चिप्स जैसी होती हैं. मेरी दो छोटी बहनें हैं कावेरी और गायत्री. कावेरी एक पेस्ट्री शैफ है और गायत्री एचआर है और एमएनसी के लिए काम करती है. एक बार जब मैं अपनी एमबीए छोड़कर मीडिया स्टडीज करना चाहता था तो वे दोनों ही पापा से खूब झगड़ी थीं, क्योंकि मेरे घर के हर निर्णय में सभी सदस्य शामिल होते हैं. मेरे परिवार में गिफ्ट देने की परंपरा नहीं है, बल्कि हम किसी बेसहारा को गिफ्ट करना बेहतर समझते हैं.